Pro Kabaddi 2021: सभी टीमों के कप्तान| All Team Captains

दो साल बाद के अंतराल के बाद प्रो कबड्डी लीग (Pro Kabaddi League 2021) का आठवां संस्करण 22 दिसंबर से बैंगलोर में शुरू होगा। प्रो कबड्डी लीग का कबड्डी फैंस बोहोत बेसबरी से इंतजार कर रहे थे। प्रो कबड्डी ने आठवें संस्करण का शेड्यूल 1 दिसंबर को जारी किया था।

पीकेएल (PKL) का पहला मुकाबला यू मुंबा और बेंगलुरु बुल्स के बीच 22 दिसंबर शाम के 7:30 बजे खेला जाएगा। पूरी लीग बायो बबल (Bio Bubble) में खेली जाएगी, इसलिए सारी टीम्स एक ही जगह रहेंगी। पीकेएल के आठवें संस्करण के किए सभी टीमों ने अपने अपने कप्तान के नाम जारी किए है। इस संस्करण में हमे कुछ नए तो कुछ टीमों के वही कप्तान देखने को मिलेंगे।

बंगाल वॉरियर्स (Bengal Warriors) – मनिंदर सिंह

प्रो कबड्डी लीग के सातवे संस्करण की चैंपियन टीम बंगाल ने अपने टीम के कप्तान को बदला नहीं हैं। चैंपियन बनाने वाले मनिंदर सिंह ही बंगाल वॉरियर्स के कप्तान रहेंगे। पिछले संस्करण में मनिंदर ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया था और टीम को चैंपियन बनाया था।
क्या एक बार फिर से मनिंदर बंगाल का चैंपियन का किताब बरकरार रखते हुए बंगाल को चैंपियन बना पाएंगे?

बेंगलुरु बुल्स (Bengaluru Bulls) – पवन सेहरावत

पीकेएल के छटे संस्करण की चैंपियन टीम ने पिछले संस्करण में सबसे जादा रेड प्वाइंट हासिल करने वाले पवन सेहरवात को कप्तान बनाया है। बेंगलुरु के सातवे संस्करण के कप्तान रोहित कुमार इस बार तेलुगु टाइटंस के कप्तान रहेंगे। क्या पवन कुमार अपना रेडिंग का वही दबदबा कायम रखते हुए बेंगलुरु को फिर से एक बार चैंपियन बना पाएंगे?

दबंग दिल्ली (Dabang Delhi) – जोगिंदर नरवाल

दबंग दिल्ली के खेमे में बोहोत सारे सीनियर खिलाड़ी मौजूद है, जैसे की अजय ठाकुर, मंजीत चिल्लर, जीवा कुमार। पीकेएल के सातवे संस्कारण में दिल्ली रनर्स अप रही थी। नवीन कुमार के बेहतरीन प्रदर्शन के बदौलत दिल्ली फाइनल में पोहची थी। लेकिन जोगिंदर नरवाल के अनुभव का काफी फायदा टीम को मिला था। इसलिए दिल्ली ने फिर से एक बार जोगिंदर नरवाल को कप्तान के तौर पर बरकरार रखा हैं।

हरियाणा स्टीलर्स (Harayan Steelers) – विकास कंडोला

हरियाणा स्टिलर्स ने आठवें संस्कारन के लिए विकास कंडोला को कप्तानी सौंपी हैं, विकास का पीकेएल के सातवे संस्करण में हरियाणा के लिए अच्छा प्रदर्शन रहा था। विकास ने 190 रेड प्वाइंट हासिल किए थे। आठवें संस्करण के लिए हरियाणा ने विकास कंडोला के को कप्तानी की कमान सौंपी हैं।

गुजरात जायंट्स (Gujarat Giants) – सुनील कुमार

गुजरात जायंट्स कप्तानी फिर से सुनील कुमार करेंगे, गुजरात की टीम में जादातर युवा खिलाड़ी हैं। अनुभव की बात करे तो रविंदर पहल ही एक डिफेंडर है जो अनुभवी खिलाड़ी है टीम में। गुजरात ने फिर से भरोसा दिखाया है सुनील पर क्या सुनील कुमार गुजरात जायंट्स को चैंपियन बना पाएंगे?

जयपुर पिंक पैंथर्स (Jaipur Pink Panthers) -दीपक निवास हुडा

पीकेएल के पहले संस्करण के चैम्पियन जयपुर के आठवें संस्करण को कमान फिर से एक बार भारतीय टीम के कप्तान दीपक हुडा को दी है। सतावे संस्करण में जयपुर के लिए सबसे जादा रेड प्वाइंट हासिल करने वाले खिलाड़ी रहे थे। पिछले संस्करण में जयपुर प्वाइंट टेबल में सातवे पायदान पर रही थी। क्या इस बार दीपक हुडा जयपुर की फिर से चैम्पियन बना पाएंगे?

पटना पाइरेट्स (Patna Pirates) – प्रशांत कुमार राय

पटना टीम में इस साल बड़ा उलट फेर देखने को मिला हैं। तीन बार चैम्पियन रही पटना पाइरेट्स ने प्रशान्त कुमार राय को कप्तान बनाया है। पीकेएल के सबसे बेहतरीन खिलाड़ी परदीप नरवाल इस बार पटना के जर्सी में नहीं दिखेंगे। क्या प्रशांत कुमार के अगुवाई में चौथी बार पटना बनेगी चैम्पियन।

पुणेरी पलटन (Puneri Paltan) – नितिन तोमर

पुणेरी पलटन ने इस बार नितिन तोमर को कप्तान बनाया हैं। नितिन तोमर एक अनुभवी खिलाड़ी हैं। नितिन के साथ इस बार दिखेंगे राहुल चौधरी। क्या नितिन तोमर और राहुल चौधरी पुणेरी पलटन को बना पाएंगे आठवें संस्करण के चैंपियन।

तमिल थलाईवास (Tamil Thalaivas) – सुरजीत सिंह

तमिल थलाईवस के टीम में इस बार बोहोत सारे बदलाव दिखाई दिए हैं। लगभग पूरी टीम को तमिल थलाइवस ने बदल दिया है। जादातर युवा खिलाड़ी तीन में दिखाई देंगे। तमिल थलाइवास ने इस बार सुरजीत सिंह को कप्तानी सोपी है। पिछले संस्करण में तमिल थलाईवास प्वाइंट टेबल ने सबसे निचले पायदान पर रही थी। क्या इस बार सुरजीत सिंह अपने टीम को चैम्पियन बना पायेंगे?

तेलगु टाइटंस (Telugu Titans) – रोहित कुमार

छटे संस्करण में चैम्पियन टीम बंगलुरु बुल्स के कप्तान रहे रोहित कुमार पीएलएल के आठवें संस्करण में तेलगी टाइटंस की कप्तानी करेंगे। सिद्धार्थ देसाई और रोहित कुमार की जोड़ी क्या तेलेगु टाइटंस को पहली बार चैम्पियन बना पायेगी?

यू मुंबा (U Mumba) – फजल अत्राचली

यू मुंबा ने फिर से एक बार फजल अत्राचाली को कप्तान बनाया हैं। यू मुंबा ने पीजेएल का दूसरा संस्करण अपने नाम किया था और पिछले संस्करण में सेमीफाइनल में अपनी जगह बयाई थी। फजल अत्राचली पिछले संस्करण में सबसे ज्यादा टैकल पॉइंट्स हासिल करने वाले डिफेंडर रहे थे। क्या इस बार फिर एक बार फजल अत्राचली यू मुंबा को चैम्पियन बना पायेंगे।

यूपी योद्धा (UP Yodha) – नितेश कुमार

यूपी ने फिर एक बार नितेश कुमार को कप्तानी की कमान सौंपी है। यूपी योद्धा में इस बार पीकेएल के रिकॉर्ड ब्रेकर परदिप नरवाल खेलते नज़र आयेंगे। पिछले संस्करण में यूपी योद्धा ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। यूपी योद्धा पिछले संस्करण में सेमीफाइनल तक पोहचने में कामयाब हुई थी। क्या इस बार परदीप और श्रीकांत जाधव के साथ यूपी बन सकती है चैम्पियन?